Mar 01, 2024
प्रेम

जब से तुम मिले!

Read Later
जब से तुम मिले!
देख लिए दुनिया के सभी हसीन नजारें,
जब से मिली है तेरी आँखो से आँखे ! 
फिकी पड गयी है मेहफील सुरों की,
जब से सुनी है रफ्तार तेरी धडकनों की !
हटा दिए है बागों से फुल गुलाब के,
जब से मिली है खुशबू तेरी मौजूदगी की !
मिठाइयों से भी अब रूसवाई हो गयी, 
जब से तेरे प्यार की मिठास है चखी! 
                            - Trupti Gawali
ईरा वाचनाचा आनंद घ्या आता app मधून, आजच download करा. Download App Now
ईराच्या कथांचे कुठलेही भाग मिस करू नका, आजच जॉईन करा ईरा वाचनालय. व्हाट्सएप: व्हाट्सएप:
Circle Image

Trupti Gawali

सारी बाते जुबान से नहीं होती, कूछ आँखो से भी होती है! -trupti

//